कंडोम के प्रयोग से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब मिलेगा यहां!

सभी लेडीज़ के लिए बेहद ज़रूरी चीज़ है! और फिर भी इसके बारे में ज़्यादा बात नहीं होती है। ये अधिकतर केमिस्ट के काउंटर के पीछे छुपे होते हैं, इस 21वीं सदी में भी कंडोम एक “टैबू” बना हुआ है। और कोई भी इसके बारे में सवालों के जवाब देने को तैयार नहीं होता। यहां कंडोम के बारे में सभी जानकारी और आपके सभी सवालों के जवाब मौजूद हैं!

प्रेगनेंसी और STD बीमारियों से सुरक्षित रहने का ये सबसे असरदार तरीका है। बहुत सी महिलाएं ना सिर्फ प्रेगनेंसी बल्कि सेक्सुअली फैलने वाले इन्फेक्शन के डर को अनुभव करती हैं।

इसे पहनाने से पहले आपके हाथ एकदम साफ होने चाहिए। मसाज ऑइल या फिर पसीना भी लेटैक्स को कमजोर कर सकता है। इसलिए शुरू करने से पहले अपने हाथों को साबुन से धो कर सुखा लें। फॉयल पेक को सॉर्टेड एज (ये सभी में होती है) वाली तरफ से खोलें। ऐसा करते वक़्त ध्यान रखें कि इसे एज के साथ साथ ही खोलें, बिना कंडोम को छूए। अगर गलती से आपसे कंडोम खिंच गया (और इस कारण कमजोर हो गया है) या निकालते वक़्त फट गया है, तो फिर दूसरे पैक के साथ वापस से शुरू करें! चेक करें कि आपने उसे सही पकड़ा हो – कंडोम रोल की एज ऊपर की तरफ होनी चाहिए, ताकि आप उसे नीचे रोल करते हुए पेनिस पर पहना सकें। अगर वो रोल नहीं हो रही हो, तो इसका मतलब है कि आपने उसे सही ढंग से नहीं पकड़ा है। आपको कंडोम को हल्के से सिर्फ उसकी एज से ही पकड़ना है,

हिंदुस्तान में कंडोम के अधिकतर मैन्युफैक्चरर और रिटेलर इस बात पर विश्वास करते हैं कि “एक साइज़ सभी को फिट हो जाता है. अक्सर गलत साइज के कॉन्डम काम में लेने पर या तो फिसल जाते है या फिर जयादा छोटा होने पर सेक्स के दौरान वह फट जाता है. कंडोम का पैकेट कभी भी अपने पर्स या वॉलेट में डायरेक्टली ना रखें। ऐसा करने से कंडोम मुड़ेगा, खिंचेगा और कमजोर हो जाएगा। एक बार काम में लेने के बाद इसे किसी पैकेट में ही फेकें। कंडोम का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा उसकी एक्सपायरी डेट चेक कर लें।

SOURCE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *