मिलिए एक ऐसे ऑटो चालक से जो दिन भर ऑटो चलाने के बाद रात को अपने ऑटो का करता है ऐसे इस्तेमाल, इसके इस कदम ने जीत लिया लाखो लोगों का दिल

दुनिया में कई ऐसे उद्धरण देखने को मिल जाते हे जो इन्सान के लिए एक मिसाल बन जाते हे. दुनिया में आज भी इंसानियत जिंदा है। ऐसे ही एक शख्स की कहानी, हम इस पोस्ट के जरिए आपके सामने लेकर आए हैं। जिसने अपने एक कदम से लाखों लोगों के दिलों को जीत लिया है।

उसका नाम है मंजूनाथ निगप्पा पुजारी। मंजूनाथ कर्नाटक के बेलगाम के रहने वाले हैं। ये पेशे से एक ऑटो चालक है। यह कैब की सेवा देने वाली ओला कंपनी से जुड़े हुए हैं, जिसके जरिए ही ऑटो चलाते हैं। इसी से उनके परिवार का पालन पोषण होता है।

एम्बुलेंस सर्विस देकर कर रहे हैं लोगो की सेवा

मंजू नाथ समाज के लिए एक बहुत ही नेक काम कर रहे। दिनभर ऑटो चलाने के बाद जब रात में बाकी सब ऑटो चालक आराम करते हैं। उस समय मंजूनाथ की समाज सेवा का समय शुरू हो जाता है। दरअसल रात के समय मंजूनाथ का ऑटो एक एंबुलेंस में तब्दील हो जाता है। जी हां रात के समय मंजूनाथ अपनी ऑटो को जरूरतमंद लोगों के लिए एंबुलेंस के तौर पर चलाते हैं। यह लोगों को निशुल्क एंबुलेंस सेवा देते हैं।

उन्हें एंबुलेंस की सेवा देने का ख्याल तब आया। जब उनका एक करीबी पहचान वाले की तबीयत खराब थी और उन्हें हॉस्पिटल पहुंचना था। परंतु वक्त पर साधन ना मिल पाने की वजह से उन्हें अस्पताल पहुंचने में 2 घंटे लग गए। इसके बाद से ही मंजूनाथ ने एम्बूलेंस की सेवा देनी शुरू की।

पत्नी का है पूरा सहयोग

इनके समाज सेवा के काम में इनकी पत्नी का पूरा सहयोग रहता है। लेंस की सेवा देने के लिए मंजूनाथ ने अपना नंबर दिया हुआ है। जिस किसी को भी एंबुलेंस की जरूरत होती है वह इस नंबर पर फोन करता है। मंजूनाथ की गैरमौजूदगी में उनकी सारे फोन कॉल रिसीव करती हैं।और जरूरतमंद की डिटेल नोट कर लेती हैं।

एंबुलेंस सुविधा देने के अलावा मंजूनाथ एचआईवी अवेरनेस को लेकर एक मुहिम भी चला रहे हैं। इसके लिए उन्होंने अपने ऑटो पर एक संदेश भी लिखवाया हुआ है। मंजूनाथ अपनी कमाई का एक हिस्सा आश्रय फाउंडेशन मे दान कर देते हैं। मंजूनाथ।के इस जज्बे को हम सलाम करते हैं।

SOURCE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *